निर्भया के दोषी अक्षय ने दायर की पुनर्विचार याचिका


नई दिल्ली, 10 दिसम्बर (इंट.): निर्भया सामूहिक दुष्कर्म के दोषी अक्षय सिंह ने फांसी की सज़ा से बचने के लिए पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है। हालांकि अभी तय नहीं है कि याचिका पर सुप्रीम कोर्ट कब सुनवाई करेगा। अक्षय को निचली अदालत ने फांसी की सज़ा सुनाई है जिसे दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने बरकरार रखा था। अक्षय ने फांसी से बचने के लिए पुनर्विचार याचिका दाखिल की है। इससे पहले बाकी तीनों दोषियों मुकेश, पवन व विनय ने पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी, जिसे पिछले वर्ष सुप्रीम कोर्ट ने खारिज करते हुए सज़ा को बरकरार रखा था। मगर दोषियों के वकील ए.पी. सिंह के मुताबिक अक्षय की पुनर्विचार याचिका के निपटारे के बाद ही अन्य दोषियों की तरफ से क्युरेटिव यानी उपचार याचिका एक साथ दाखिल करेंगे। वहीं, 2012 के निर्भया सामूहिक दुष्कर्म-हत्याकांड के एक दोषी को तिहाड़ जेल में स्थानांतरित किया गया है। महानिदेशक (जेल) संदीप गोयल ने बताया कि मंडोली जेल में रखे गये पवन कुमार गुप्ता को हाल ही में तिहाड़ जेल स्थानांतरित किया गया। एक अन्य जेल अधिकारी ने बताया कि गुप्ता तिहाड़ की जेल नंबर 2 में है जहां इस कांड के अन्य दोषियों मुकेश सिंह और अक्षय को भी रखा गया है। चौथा दोषी विनय शर्मा तिहाड़ की जेल नंबर चार में है।