उन्नाव दुष्कर्म मामला- सेंगर पर फैसला 16 तक सुरक्षित


नई दिल्ली, 10 दिसम्बर (जगतार सिंह) : दिल्ली की तीस हज़ारी अदालत ने मंगलवार को उन्नाव दुष्कर्म मामले पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। अदालत अब 16 दिसम्बर को अपना फैसला सुनाएगी। भाजपा से बर्खास्त विधायक कुलदीप सिंह सेंगर यदि इस मामले में दोषी साबित होते हैं तो उसे उम्रकैद की सज़ा सुनाई जा सकती है। इसके अलावा शशि सिंह पर भी आरोप है कि वही पीड़िता को कुलदीप सेंगर के पास लेकर गई थी जहां उसने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। कुलदीप सिंह सेंगर इस समय दिल्ली में तिहाड़ जेल में बंद है। उल्लेखनीय है कि सेंगर पर वर्ष 2017 में एक नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने का आरोप है।
पीड़ित परिवार को सुरक्षा मिली
उन्नाव (उप्र), 10 दिसम्बर (भाषा): उन्नाव ज़िले में आग के हवाले की गई दुष्कर्म पीड़िता के परिवार की सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने मंगलवार को बताया कि मृतक युवती के परिवार की सुरक्षा के लिये चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है। वहां एक पुलिस क्षेत्राधिकारी, एक थानाध्यक्ष मय पुलिस बल के तैनात है। साथ ही डेढ़ सेक्शन पीएसी भी वहां मौजूद है। मृतका के समाधि स्थल पर भी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक साक्ष्य इकट्ठा किए जा रहे हैं। इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में विशेष टीम बनाई गई थी जिसकी वह नियमित निगरानी कर रहे हैं। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हमारा प्रयास है कि इस मामले में जल्द से जल्द आरोप-पत्र दाखिल कर दिया जाए ताकि मामले को फास्ट ट्रैक पर लाया जा सके। इस मामले में आरोपियों के परिजनों ने पुलिस पर उनके परिवार के सदस्यों को फंसाने का आरोप लगाते हुए मामले की सीबीआई जांच की मांग की है।