अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी कप भारत की झोली में


डेरा बाबा नानक (बटाला), 10 दिसम्बर (डा. कमल काहलों) : पंजाब सरकार द्वारा करवाए गए कबड्डी कप का फाइनल मुकाबला आज डेरा बाबा नानक के शहीद भगत सिंह स्टेडियम में खेला गया, जिसमेें हजारों दर्शकों ने हाजिरी भरी। इस अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी कप का आगाज खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी, कैबिनट मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा व कैबिनट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने सांझे तौर पर किया। इस अवसर पर खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने कहा कि यह अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी कप श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश दिवस को समर्पित है और सबसे बड़ी खुशी की बात यह है कि यह महाकुंभ बाबा नानक की धरती पर हो रहा है। उन्होंने इस अवसर पर खिलाड़ियों को उत्साहित करते हुए अगले महीने नव वर्ष पर हो रही पुलिस की भर्ती में खास रियायतें देने का ऐलान भी किया। उन्होंने यह भीक हा कि इस कार्यक्रम का सारा खर्चा खेल विभाग द्वारा उठाया जाएगा। उन्होंने 10 लाख रूपए की ग्रांट शहीद भगत सिंह स्टेडियम को दी। कैबिनट मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने 20 लाख रू की ग्रांट देने का ऐलान करते हुए कहा कि लोग मेला देखने आया हैं, इस कारण सांसद मुहम्मद सदीक को बोलने का अवसर दिया जाए। इस पर सांसद मुहम्मद सदीक ने कहा कि साजां वाले आदमी के पास कुछ कहने के लिए नहीं होता, गीत-संगीत से जुड़ा आदमी के लिए साजों का होना जरूरी है, परंतु मैं फिर भी आपको बाबा नानक के साथ जुड़ी कुछ खास लाइनें सुना देता हूं। कैबिनट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि कबड्डी पंजाब का महा खेल है, इस को हम और ऊंचा ले जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमने पाकिस्तान की टीम को निमंत्रण दिया था परंतु वीजा देना केंद्र सरकार का काम था। अगर वो आते तो सद्भावना तो बढ़ सकती थी, शांति के लिए रास्ता खुला था। अगर टीम आतीत ो खिलाड़ियों सांझ के साथ खेल भावना का विस्तार होना था। सुदर्शन सिंह चहल व सुखराज रोडे की कमेंट्री ने खेल प्रेमियों का मन मोह लिया।
बैस्ट जाफी जोधा व बैस्ट धावी कमल रहा : इस अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी कप में भारतीय टीम के दो खिलाड़ी लोगों की आंखों के तारे बने रहे, जिनमें जोधा सुरखपुर और कमल नवां पिंड शामिल थे, जिनमें जोधा बैस्ट जाफीऔर कमल बैस्ट धावी रहा।
डोप रहित हुआ कबड्डी कप : डोप रहित कबड्डी ने लोगों का विश्वास जीता। खेल अधिकारियों का कहनाथा कि आने वाले समय में भी खिलाड़ियों का डोप टैस्ट करवाया जाएगा और फिर ही मैच करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि विदेशों से आए खिलाड़ियों की पहली शर्त थी कि हर खिलाड़ी का डोप टैस्ट करवाया जाए और फिर ही वो अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी कप में शमूलियत करेंगे।
अब तक खेले गए सारे कबड्डी कप भारत की झोली में : पहला अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी कप 2010 में हुआ और अब तक 6 अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी कप हुए, जिसमें भारत ने जीत दर्ज की और अब 2019 में भारत ने अपनी जीत की श्रृंखला को जारी रखते सातवीं बार कबड्डी कप अपनी झोली डाला।
सभ्याचारक कार्यक्रम यादगारी हुआ : कबड्डी कप की शुरुआत से पहले गायक जसबीर जस्सी, गायिका गुरलेज अख्तर ने लोगों का बखूबी मनोरंजन किया। जसबीर जस्सी के पुराने गीतों का दर्शकों ने खूब पंसद किया। इसके अलावा पंजाब सरकार के सरकारी स्कूल की छात्राओं का गिद्दा व भंगड़ा खूब आकर्षण का केंद्र रहा।