सूडान : फैक्ट्री विस्फोट से 18 भारतीयों की मौत, विदेश मंत्री जयशंकर ने की पुष्टि


खार्तूम, 4 दिसम्बर (इंट) : सूडान की राजधानी खार्तूम में चीनी मिट्टी की एक फैक्टरी में बड़ा धमाका हुआ है, जिसमें 18 भारतीयों सहित 23 लोगों और  130 लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने इस घटना की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि मुझे सलूमी स्थित एक फैक्टरी में विस्फोट की जानकारी मिली है। इस हादसे में 18 भारतीयों की मौत हो गई है, जबकि कई अन्य गम्भीर रूप से घायल हो गए हैं। इस फैक्टरी में लगभग 50 भारतीय काम करते हैं। भारतीय दूतावास ने बताया कि हादसे में घायल व लापता लोगाें में हरियाणा, यूपी, बिहार, दिल्ली, राजस्थान, तमिलनाडु व गुजरात से संबंधित हैं। हादसे की वजह एलपीजी सिलैंडर में धमाका होना बताया गया है। सलोमी फैक्टरी में विस्फोट उस समय हुआ जब वहां एक ईंधन का टैंकर गैस अनलोड कर रहा था। प्राथमिक जांच रिपोर्ट में सामने आया है कि फैक्टरी में हादसे वाली जगह पर  सुरक्षा के उपकरण व उपाय नहीं किए गए थे। खार्तूम राज्य पुलिस ने कहा कि घायलों को खार्तूम, उत्तरी खार्तूम और ओम्डर्मन शहरों के पांच अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। पुलिस के अनुसार विस्फोट के कारण आसमान में काला धुआं और आग की लपटें छा गईं। धमाका इतना शक्तिशाली था कि कम्पाउंड में खड़ी कारों को भी आग लग गई, जिससे इलाके में अफरा-तफरी मच गई। घटना के बाद पास की फैक्टरियों को भी खाली करवा लिया गया है और वहां काम करने वालों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया है। फैक्टरी में धमाके की सूचना मिलने के बाद दमकल कर्मी घटनास्थल पर पहुंचे और आग पर काबू पाने की कोशिश की। इस धमाके के बाद सूडान के उद्योग और व्यापार मंत्री मदनी अब्बास और खार्तूम के गवर्नर मोहम्मद अब्देल रहमीन और अन्य अधिकारियों ने घटनास्थल का दौरा किया। सूडान सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि भविष्य में ऐसी घटनाओं से बचने के लिए मामले की जांच शुरू कर दी गई है। सरकार ने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।