पंजाब में औद्योगिक प्रदर्शनी मैदान बने तो निर्यात में होगी बढ़ौत्तरी


जालन्धर, 30 नवम्बर (शिव शर्मा ) : निर्यातकों के हित के लिए बनी केन्द्र सरकार एजेंसी इंजीनियर एक्सपोर्ट प्रमोशन कौंसिल ने पंजाब सरकार को सुझाव दिया है कि अगर राज्य से निर्यात बढ़ाना है तो राज्य में एक प्रमुख तौर पर इस तरह का औद्योगिक प्रदर्शनी मैदान बनाया जाना चाहिए जहां कि समय-समय पर राज्य में बने औद्योगिक सामान व और विदेशों में भेजने वाले सामान की प्रदर्शनी लगाई जाए जिस से विदेशों से आने वाले लोगों में इस बारे जागरूक होने से निर्यातकों को इसका काफी फायदा होगा। कौंसिल के डिप्टी डायरेक्टर उपिन्द्र घई ने इस बारे सुझाव देते हुए कहा कि जर्मनी, यूरोप सहित अन्य देशों में औद्योगिक प्रदर्शनियां लगाई ताकि इस के साथ वहां के उद्योगों को काफी बढ़ावा होता है। उनको निर्यात के बड़े आर्डर मिलते हैं। सरकार ने राज्य में निर्यात बढ़ाने के लिए चंडीगढ़ के उद्योग भवन में बैठक बुलाई थी जिस में राज्य के अलग-अलग हिस्सों से आई निर्यातकों के संगठनों के नेताओं ने हिस्सा लिया था। इस में अतिरिक्त प्रमुख सचिव श्रीमती बिन्नी महाजन सहित और अधिकारी उपस्थित हुए। ईईपीसी के डिप्टी डायरेक्टर उपिन्द्र घई का कहना था कि अगर निर्यात में और बढ़ावा करना है तो राज्य के सारे फोकल प्वायंट, इंडस्ट्रियल एरिया को भी खूबसूरत बनाने चाहिए, इस के साथ दूसरे देशों से आने वाले कारोबारियों पर काफी असर पड़ता है। उन्होंने राजय में एक आधुनिक किस्म व नई तकनीक वाला एक टैक्नालॉजी केन्द्र बनाने की मांग की ताकि जो निर्यातक कार को सामान बनाने की हर समय जानकारी मिलती रहे। राज्य में इस समय चाहे केन्द्र हैं पर उनको अपग्रेड करने का काम किया जाना है। डिप्टी डायरेक्टर द्वारा स्कूलों में टैक्नालॉजी आधारित पढ़ाई करने का भी सुझाव दिया। इस अवसर पर मोहाली के कुछ कारोबारियों ने पाकिस्तान से कारोबार खोलने के लिए मंजूरी लेने की मांग उठाई पर अधिकारियों का कहना था कि यह केनद्र के साथ संबंधित मामला है तो वह इस मामले में दखल नहीं दे सकते है। अतिरिक्त प्रमुख सचिव श्रीमती बिन्नी महाराज ने ईईपीसी सहित और भी निर्यातक संगठनों के सुझाव का स्वागत करते कहा कि सरकार द्वारा उन पर विचार करके उनको लागू करने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।