गुरुद्वारा डेरा दुखभंजन साहिब जी


गुरुद्वारा डेरा दुखभंजन साहिब जी.डी.सी. कालोनी ऊना (हिमाचल) में स्थित है। यहां पर डेरे के संचालक बाबा चरणजीत सिंह जी पिछले 30 वर्षों से गुरुबाणी द्वारा श्रद्धालुओं की सेवा करते आ रहे हैं। बचपन से ही बाबा चरणजीत सिंह जी अपने घर परिवार की तरह जोकि गुरुनानक अंश वंश से जुड़े हुए थे, सेवा सिमरन करते हुए परमात्मा में विश्वास रखते थे। उनकी लग्न परमात्मा में लीन हो चुकी थी और वह सरकारी नौकरी करते हुए भी गुरवाणी पाठ कीर्तन में काफी समय व्यतीत किया करते थे। उनके द्वारा किये जाते गुरुबाणी गायन में बहुत रस भरा हुआ था। बाबा चरणजीत सिंह जी की सेवा सदका व समूह श्रद्धालुओं के सहयोग से अब गुरुद्वारा डेरा दुखभंजन साहिब जी प्रकाश अस्थान, सुखआसन अस्थान, लंगर व अनेक कमरों सहित सुन्दर बन चुका है। प्रतिदिन यहां सुबह-शाम नितनेम, गुरुबाणी कीर्तन, प्रत्येक रविवार, मंगलवार, ज्येष्ठ रविवार को पाठ, कीर्तन, लंगर लगाए जाते हैं। यहां एक समागम अगस्त महीने में जप-तप सेवा सिमरन तथा सालाना समागम व कीर्तन दरबार नवम्बर महीने में 22 से 24 नवम्बर तक मनाया जाता है, जिसमें संत महापुरुष , कथावाचक, रागी, ढाडी जत्थे, उपदेशक, कथा-कीर्तन द्वारा संगत को श्री गुरु साहिब जी से जुड़ने की प्रेरणा देते हैं। गुरुद्वारा डेरा दुखभंजन साहिब जी डी.सी. कालोनी ऊना में इस बार भी 22 से 24 नवम्बर तक सालाना समागम व रैन सवाई कीर्तन दरबार बाबा चरणजीत सिंह जी तथा समूह संगत द्वारा श्रद्धापूर्वक आयोजित किया जा रहा है। इस अवसर पर सेवादारों को सिरोपे भेंट किए जायेंगे तथा अनेकों तरह के लंगरों का आयोजन किया जायेगा।

—गुरप्रीत सिंह सेठी
ऊना, हि.प्र. 
मो. 98164-97250