एशियाई युवा मुक्केबाजी : भारतीय महिलाओं को पांच स्वर्ण, पुरुषों को दो रजत


 उलानबटोर (मंगोलिया), 17 नवम्बर (भाषा) : फाइनल में जगह बनाने वाली भारत की पांचों महिला मुक्केबाजों ने रविवार को यहां एशियाई युवा मुक्केबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता जबकि पुरुषों ने दो रजत पदक हासिल किए। नाओरेम चानू (51 किग्रा), विंका (64 किग्रा), सनामाचा चानू (75 किग्रा), पूनम (54 किग्रा) और सुषमा (81 किग्रा) ने स्वर्ण पदक जीते। पुरुष वर्ग में सेलाय साय (49 किग्रा) और अंकित नरवाल (60 किग्रा) को फाइनल में हार के साथ रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत ने प्रतियोगिता में कुल 12 पदक जीते। अरुणधति चौधरी (69 किग्रा), कोमलप्रीत कौर (81 किग्रा से अधिक), जास्मिन (57 किग्रा), सतेंदर सिंह (91 किग्रा) और अमन (91 किग्रा से अधिक) ने कांस्य पदक जीते। भारत के लिए दिन की शुरुआत सेलाय ने की जिन्हें फाइनल में कजाखस्तान के बाजरबे उलु मुखामेदसेफी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। नरवाल भी इसके बाद जापान के रेइतो सुतसुमे से हार गए। पूनम ने चीन की वेइकी काइ को हराकर भारत के स्वर्ण पदकों का खाता खोला जबकि सुषमा ने कजाखस्तान की बाकितझानकिजी को हराकर सोने का तमगा अपने नाम किया। नाओरेम चानू ने फाइनल में कजाखस्तान की अनेल बर्किया को हराया। विंका ने चीन की हेनी नुआताइली को हराकर चौथा स्वर्ण पदक भारत की झोली में डाला जबकि सनामाचा चानू ने उज्बेकिस्तान की नवबखोर खामिदोवा को हराकर देश के लिए पांचवां स्वर्ण पदक जीता।