बंगलादेश में भी 15 नवम्बर को मनाया जाएगा श्री गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाशोत्सव


अमृतसर, 16 अक्तूबर (जसवंत सिंह जस्स): श्री गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाशोत्सव जहां भारत व पाकिस्तान के बीच गुरु साहिब से संबंधित अस्थानों में अथाह श्रद्धा व सम्मान सहित मनाया जा रहा है, वहीं 15 अगस्त को बंगलादेश के गुरुद्वारा नानकशाही ढाका में भी यह पावन दिवस बाबा सुखा सिंह सम्प्रदाय कार सेवा सरहाली ज़िला तरनतारन द्वारा भारतीय उच्चायोग ढाका व सिख संगत के सहयोग से मनाया जा रहा है, जिसमें भारत से विशेष तौर पर 50 श्रद्धालुओं का जत्था शामिल होगा। बंगलादेश से प्रबंधों का जायज़ा लेकर लौटे कार सेवा सम्प्रदाय के सचिव हरभजन सिंह संधू ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि इस समय भारतीय उच्चायोग के सहयोग से गुरुद्वारा नानकशाही ढाका की पुरानी इमारत की नए सिरे से बिजली वायरिंग करने, बाहरी चारदीवारी पर लोहे की तार लगाने, चारों तरफ लाइटें आदि लगाए जाने का काम चल रहा है। उन्होंने बताया कि गुरुद्वारा साहिब नानकशाही ढाका में 10 फुट ऊंचा व 5 फुट चौड़ा स्टील का  स्थापित किया जाएगा, जबकि गुरुद्वारा सिख एस्टेट टैम्पल चिट्टागांव में इसी आकार का स्टील का बड़ा ‘खंडा’ स्थापित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस संबंधी भारतीय उच्चायुक्त ढाका रीवा गांगुली दास के साथ मनाए जा रहे प्रकाशोत्सव संबंधी विचार-विमर्श करने संबंधी विचार-विमर्श करने के लिए बाबा सुखा सिंह कार सेवा सरहाली द्वारा भारत से दो सदस्यीय कमेटी, जिसमें अजायब सिंह बोपाराय अध्यक्ष गुरुद्वारा बंगलादेश मैनेजमैंट बोर्ड कोलकाता व उनके (हरभजन सिंह संधू) के अलावा गुरुद्वारा गुरुद्वारा मैनेजमैंट कमेटी ढाका के अध्यक्ष परस लाल बेगी व सचिव तपश लाल चौधरी द्वारा उनके कार्यालय पहुंचकर मुलाकात की गई। इस अवसर पर प्रतिनिधिमंडल द्वारा उप उच्चायुक्त के साथ भी मुलाकात की गई और उन्हें पुष्पगुच्छ भेंट करते हुए उनके द्वारा करवाए जा रहे कार्यों की प्रशंसा की।  उन्होंने कहा कि इन गुरमति समागमों में भारतीय उच्चायुक्त ढाका को भी शामिल होने की अपील की गई, जोकि उनके द्वारा स्वीकार कर ली गई। संधू ने बताया कि 15 नवम्बर को गुरुद्वारा नानकशाही ढाका में 550वें प्रकाशोत्सव संबंधी हो रहे गुरमति समागमों में शामिल होने के लिए भारत के विभिन्न राज्यों से लगभग 50 श्रद्धालुओं का जत्था 11 नवम्बर को अमृतसर से रेलगाड़ी के ज़रिये रवाना होगा। संधू ने बताया कि 15 नवम्बर को गुरुद्वारा नानकशाही ढाका में सुशोभित किए जा रहे खालसा के यादगारी विशाल चिन्ह  का उद्घाटन भी भारतीय उच्चायुक्त रीवा दास द्वारा किया जाएगा और गुरुद्वारा साहिब में चल रहे सैमीनार व गुरमति समागमों में भी वह हाज़िरी भरेंगे। इसी तरह 16 नवम्बर को सिख एस्टेट टैम्पल चिट्टागांव में भी एक विशाल सिख यादगारी चिन्ह ‘खंडा’ सुशोभित किया जा रहा है, जिसका उद्घाटन वहां के उप उच्चायुक्त करेंगे।