मैरीटोरियस स्कूलों के विद्यार्थियों की इंजीनियरिंग की बजाय मैडीकल की प्रवेश परीक्षा में पास प्रतिशत अधिक


जालन्धर, 24 जून (रणजीत सिंह सोढी): राज्य भर में गरीब व मेधावी विद्यार्थियों के लिए मुफ्त शिक्षा प्रदान करने के लिए पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने 10 मैरीटोरियस स्कूल खोले गए हैं। इन मैरीटोरियस स्कूलों के सत्र 2019 मार्च में पास हुए विद्यार्थियों ने राष्ट्रीय स्तर पर जे.ई.ई. व मैडीकल के लिए प्रवेश परीक्षाओं में 1602 विद्यार्थियों ने भाग लिया। इनमें से 324 विद्यार्थियों ने प्रवेश परीक्षा पास की। मैडीकल की पढ़ाई करने के लिए मैरीटोरियस स्कूल के 271 विद्यार्थियों में से 121 विद्यार्थी (44.65 प्रतिशत) नीट की परीक्षा पास कर विभिन्न मैडीकल कालेजों में दाखिला प्राप्त करने में सफल हुए, जबकि इंजीनियरिंग कालेजों में दाखिले के लिए 1331 विद्यार्थियों में से 203 विद्यार्थी (15 प्रतिशत) ही प्रवेश परीक्षा पास कर दाखिला प्राप्त करने के लिए कामयाब हुए हैं। मैडीकल में दाखिले के लिए 271 विद्यार्थियों ने नीट की परीक्षा दी, जिसमें से 121 विद्यार्थियों ने सफलता हासिल की। पटियाला के 27 विद्यार्थियों में से 16 विद्यार्थियों (89.26 प्रतिशत), जालन्धर में 68 विद्यार्थियों में से 44 विद्यार्थियों (64.70 प्रतिशत), बठिंडा के 46 विद्यार्थियों में से 22 विद्यार्थी (47.83 प्रतिशत), अमृतसर के 22 विद्यार्थियों में से 8 विद्यार्थी (36.36 प्रतिशत), फिरोज़पुर के 8 विद्यार्थियों में से 1 विद्यार्थी (12.50 प्रतिशत), लुधियाना के 30 विद्यार्थियों में से 11 विद्यार्थी (36.66 प्रतिशत), मोहाली के 52 विद्यार्थियों में से 14 विद्यार्थी (26.92 प्रतिशत), संगरूर के 15 विद्यार्थियों में से 5 विद्यार्थी (33.33 प्रतिशत) प्रवेश परीक्षा पास करने में सफल रहे। इसी तरह जे.ई.ई. के लिए प्रवेश परीक्षा में 1331 विद्यार्थियों ने भाग लिया, जिनमें से 203 विद्यार्थियों ने परीक्षा पास की। अमृतसर के 102 विद्यार्थियों में से 21 विद्यार्थी (20.58 प्रतिशत), बठिंडा के 164 विद्यार्थियों में से 22 विद्यार्थी (13.41 प्रतिशत), फिरोज़पुर के 52 विद्यार्थियों में से 11 विद्यार्थी (21.15 प्रतिशत), गुरदासपुर के 17 विद्यार्थियों में से 3 विद्यार्थी (15 प्रतिशत), जालन्धर के 256 विद्यार्थियों में से 52 विद्यार्थी (20.31 प्रतिशत), लुधियाना के 221 विद्यार्थियों में से 30 विद्यार्थी (13.57 प्रतिशत), मोहाली 213 विद्यार्थियों में से 30 विद्यार्थी (14.08 प्रतिशत), पटियाला के 2015 विद्यार्थियों में से 22 विद्यार्थी (10.73 प्रतिशत), संगरूर के 101 विद्यार्थियों में से 12 विद्यार्थी (11.88 प्रतिशत) प्रवेश परीक्षा में सफल रहे। सत्र 2019-20 के लिए राज्य भर में मैरीटोरियस स्कूलों में 4600 सीटों में से 295 सीटें खाली परन्तु मैरीटोरियस स्कूल के प्रोजैक्ट चेयरमैन आई.पी. सिंह मल्होत्रा ने कहा कि पिछले वर्ष के मुकाबले इस वर्ष अधिक सीटें भरी हैं, परन्तु जो सीटें खाली हैं विभाग द्वारा उनको भी भरने के लिए दोबारा प्रवेश परीक्षा ली जाएगी।