उद्योगपतियों द्वारा प्लास्टिक के लिफाफों से पाबंदी हटाने के लिए संघर्ष की घोषणा


लुधियाना, 24 जून (जोगिंद्र अरोड़ा): प्लास्टिक मैन्यूफैक्चज़र् एंड ट्रेडज़र् एसोसिएशन की राज्य स्तरीय बैठक स्थानीय शहनशाह पैलेस में प्रधान गुरदीप सिंह बत्तरा के नेतृत्व में हुई जिसमें पंजाब भर से पहुंचे प्लास्टिक उत्पादक व ट्रेडरों ने पंजाब सरकार द्वारा 50 माइक्रोन से ऊपर वाले प्लास्टिक के लिफाफों से पाबंदी हटवाने के लिए शांतमयी संघर्ष करने की घोषणा की। बैठक में पंजाब सरकार द्वारा प्लास्टिक के लिफाफों के उत्पादन पर बिक्री पर लगाई गई पाबंदी को प्लास्टिक उद्योगों को मारने वाला फैसला बताया। उद्योगपतियों ने फैसला किया कि पहले चरण में वह एक माह में पूरे राज्य के डिप्टी कमिश्नरों को 50 माइक्रोन से ऊपर वाले प्लास्टिक के लिफाफे चालू करने व बाहर से आने वाले पतले के पाबंदीशुदा लिफाफों को पंजाब में आने से रोकने की अपील करने के लिए ज्ञापन देंगे। यदि फिर भी उनकी मांगें स्वीकृत न हुईं तो वह शांतमयी ढंग से धरने, प्रदर्शन व रोष रैलियां करेंगे। उन्होंने कहा कि तीसरे चरण में वह डिप्टी कमिश्नरों को अपील कर मुख्यमंत्री व संबंधित विभागों के साथ बैठकें करेंगे। उन्होंने कहा कि यदि फिर भी सरकार को कोई असर न हुआ तो वह रोज़ाना 5 व्यक्ति भूख हड़ताल पर बैठेंगे। प्रधान बत्तरा ने कहा कि पंजाब में 50 माइक्रोन वाला प्लास्टिक का लिफाफा ही बन रहा है तथा इससे नीचे वाला लिफाफा पंजाब में नहीं बन रहा, बल्कि 10 माइक्रोन से 40 माइक्रोन तक का लिफाफा अन्य राज्यों से पंजाब में धड़ल्ले से आ रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब में प्लास्टिक के कारोबार से 5 लाख व्यक्ति सीधे व असीधे रूप में जुड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक के लिफाफों संबंधी पंजाब सरकार को उद्योगपतियों व सरकारी अधिकारियों की एक साझी कमेटी बनानी चाहिए। जो सारे मापदंड तय कर पंजाब से बाहर आने वाले लिफाफों पर पाबंदी लगाए। इस अवसर पर सुभाष सेठी उपप्रधान, मुकेश मरजारा महासचिव, राज कुमार रैली कोषाध्यक्ष, हरमीत सिंह बत्तरा, सुनील कटारिया, पुनीत मुखीजा, गुरचरन सिंह, गुलशन दूआ, अशोक चावला, सुप्रीत सिंह कुमरा, अशोक गाबा, सुनील चावला, विपन कटारिया, विनोद दूआ, रवि विज़न, के.एल. कुमार, जसविन्द्र सिंह, लवली कुमार, विष्णु, लक्ष्मी नारायण, प्रेम कुमार, भूषण कांसल, इन्द्रप्रीत सिंह, संजी कुमार आदि उपस्थित थे।