आयुर्वेदिक डिस्पैंसरियों के लिए खरीदी जाएंगी 3.20 करोड़ की दवाइयां


जाल्नधर, 12 जून (शिव शर्मा) : पंजाब की आयुर्वेदिक डिस्पैंसरियों  में दवाईयों की कमी जलदी पूरी होने जा रही है। दो महीने पहले राज्य की कई आयुर्वेदिक डिस्पैंसरियों में दवाईयों की कमी का सामना  करना पड़ रहा था। आयुर्वेदिक डिस्पैंसरियों के लिए केन्द्र सरकार की अर्थिक मदद से दवाईयां की खरीद सरकारी कंपनियों से की जा रही है। दवाईयों की खरीद करने का काम वासे दो महीने पहले ही शुरु कर दिया गया था। विभागीय सूत्रों का कहना है कि आयुर्वेदिक इलाज में लोगों का विश्वास लगातार बढ़ रहा है जिस करके अब डिस्पैंसरियों में मरीजों का आमद बढ़ गई है व इस करके राज्य सरकार की दवाईयों की खरीद लगातार बढ़ रही है। दो वर्ष पहले आयुर्वेदिक डिस्पैंसरियों में 26 लाख के करीब मरीजों की स्ंख्या दर्ज की गई थी जबकि गत वर्ष मरीजों की संख्या 28.50लाख पहुंच गई है। दवाईयों की क्वालिटी में भी लगातार सुधार किया जा रहा है। इस समय शहरी क्षेत्रों के अलावा पेंडू आयुर्वेदिक डिस्पैंसरियों में मरीजों की आमद बढ़ी है व उनका सफलतापूर्वक ईलाज हो रहा है। विभागीय सूत्रों का कहना है ति राज्य में 524 के करीब  डिस्पैंसरियों के लिए पंजाब का आयुर्वेदिक  विभाग अब तक 1.65 करोड़ की आयुर्वेदिक दवाईयों की खरीद कर चुका है जबकि 80 लाख दवाईयां के आर्डर दिए जा चुके हैं व विभाग द्वारा 3.20 करोड़ को करीब दवाईयों की खरीद और की जाएगी। दवाईयों की खरीद के लिए जिस कंपनी को आर्डर दिए गए हैं, उनकों तैयार होने में काफी समय लगता है। एक जानकारी आयुर्वेदिक डिस्पैंसरियों के लिए विभाग द्वारा दवाईयों की खरीद की जा रही है पर कई बार दवाईयों की खरीद करने में समाजसेवी संगठन भी सहयोग करते हैं। वह कई डिस्पैंसरियों के लिए न सिर्फ ज़रुरत का सामान खरीद कर देते हैं व कई बार वह दवाईयों की खरीद करके भी देते हैं। राज्य में कई नामी डिस्पैंसरियां हैं जहां कि प्रवासी पंजाबियों ने अर्थिक मदद की है वह सुविधा देने के लिए विदेशों से फंड भेजते हैं। जिन पेंडू हलकों में इस तरह की डिस्पैंसरियां हैं, वहां के विदेशों में गए लोग इस तरह की डिस्पैंसरियां की अर्थिक मदद करते हैं जिससे अच्छे परिणाम आए हैं।