भारत-पाक में व्यापार को पुन: शुरु करने के लिए लैंड पोर्ट अथारिटी आगे आई


अमृतसर, 12 जून (सुरिन्द्र कोछड़) : पाकिस्तान आधारित आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद द्वारा पुलवामा में किए आत्मघाती हमले के बाद से इंटग्रेटिड चैक पोस्ट अटारी (आई.सी.पी.) द्वारा होने वाले व्यापार पर लगी कोर के निपटारे के लिए लैंड पोर्ट अथारिटी आफ इंडिया (एल.पी.ए.आई) के सदस्य (फाईनांस) श्री सी.वी प्रसाद 15 जून को आई.सी.पी का दौरा करेंगे। वह वहां अधिकारियों व कुलियों से भी मुलाकात करेंगे।प्राप्त जानकारी के अनुसार आई.सी.पी द्वारा व्यापार रुकने पर भारत की तरफ बेरोज़गार हुए 1433 कुल्ली प्रसाद को मांग पत्र सौंप कर व्यापार को पुन: शुरु करने व उनकी स्थाई तौर पर नियुक्ति किए जाने की मांग करेंगे। इसके इलावा भारत-पाक में व्यापार रुकने से भारतीय कुल्लियों की प्लास्टिक दाने की ढुलाई की बकाया रकम की आदायगी का मामला भी एल.पी.ए.आई के सदस्य सामने पेश किए जाएगा। बताया जा रहा कि केन्द्रीय वर्किंग कार्पोरेशन (सी. डब्लयू. सी) द्वारा पिछले दिनों आई.सी.पी  अटारी के गोदामों में रखे करोड़ों रुपए के पाक द्वारा आयात सामान का नीलामी किए जाने का ऐलान किया गया था, जिसको व्यापारियों की दखलंअदाजी के बाद फिलहाल टाल दिया गया। नीलामी के बारे आदालत में चल रहे केस का फैसला आने के बाद ही नीलामी करने या रोकने का फैसला लिया जा सकेगा।